पटना. बिहार में एक सड़क परियोजना के लोकार्पण से संबंधित एक सरकारी विज्ञापन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर नहीं है. इस पर मुख्य विपक्षी दल बीजेपी ने सवाल उठाते हुए सरकार पर निशाना साधा है. बिहार पथ निर्माण विभाग के द्वारा शुक्रवार को स्थानीय समाचार पत्रों में प्रकाशित विज्ञापन सरैया-मोतीपुर सड़क परियोजना के लोकार्पण से संबंधित है. विज्ञापन में विभागीय मंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव की बड़ी तस्वीर छपी है, जबकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर नहीं है. 
 
विज्ञापन में मुख्यमंत्री की तस्वीर नहीं होने पर बीजेपी नेता और पूर्व मंत्री नंदकिशोर यादव ने सरकार से जानना चाहा है कि क्या सरकार ने नई विज्ञापन नीति बना ली है? यादव ने कहा कि जब बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की सरकार थी, तब सभी सरकारी विज्ञापनों में निश्चित रूप से मुख्यमंत्री की तस्वीर होती थी. उन्होंने कहा, “यह विवाद है या कोई नई नीति है, मुख्यमंत्री को यह स्पष्ट करना चाहिए.”
 
इधर, बिहार के श्रम मंत्री विजय प्रकाश ने बचाव करते हुए कहा कि यह एक विभागीय कार्यक्रम है, जिसमें मुख्यमंत्री को शरीक नहीं होना है. इसलिए मुख्यमंत्री ने ही तेजस्वी को सिर्फ अपनी ही तस्वीर देने को कहा होगा. मंत्री ने कहा कि तेजस्वी पथ निर्माण मंत्री हैं और उनकी तस्वीर लगनी कोई गलत बात नहीं है.