नई दिल्ली. दिल्ली की कार्यकारी मुख्य सचिव को लेकर फिर दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल आमने-सामने आ गए हैं. उपराज्यपाल ने ऊर्जा सचिव शकुंतला गैमलिन को कार्यकारी मुख्य सचिव का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा है.सूत्रों के मुताबिक दिल्ली सरकार इससे खुश नहीं हैं. दिल्ली सरकार ने गैमलिन पर निजी बिजली कंपनियों से साठ-गांठ का आरोप लगाते हुए उनकी नियुक्ति पर एतराज़ जताया है.दिल्ली सरकार ने प्रेस रिलीज जारी कर एलजी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने चुनी हुई सरकार को दरकिनार किया है और असंवैधनिक तरीके से शकुंतला की नियुक्ति की है. दिल्ली सरकार का कहना है कि जब शकुंतला गैमलिन का नाम ही नहीं भेजा गया तो कैसे एलजी ने उनको इस पद पर नियुक्त कर दिया. सूत्रों के मुताबिक दिल्ली सरकार ने नैनी जयसीलन, अरविंद रे और एसके सिंह के नाम उपराज्यपाल के पास भेजे थे.