लखनऊ. उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक एनआरआई की पत्नी और तीन बेटी की मौत के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. चारों लाशों की पोस्टमार्ट रिपोर्ट आ गई है. रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि चारों का मर्डर हुआ था. पहले कहा जा रहा था कि चारों ने खुदकुशी की थी. 
 
मारावां थानाक्षेत्र स्‍थित शिवपूरा मोहल्‍ले में बुधवार को एक ही परिवार के 4 एनआरआई सदस्‍यों की संदिग्‍ध परिस्‍थितियों में मौत हो गई थी. इस घटना से इलाके में हड़कंप मच गया था. चारों के शव एक ही कमरे में बंद मिले थे. सभी के शव आंगन में चारपाई पर पड़े थे. पुलिस मामले की जांच कर रही है. 
 
मृतक के पड़ोसी अशोक ने बताया कि मौरावां के रहने वाले एनआरआई मनोज कुवैत में अपने बेटे के साथ लॉन्ड्री का कारोबार करता है. मनोज की पत्नी सरिता और उसकी 3 बेटियां यहां रहती थीं. बुधवार सुबह मकान के आसपास जब लोगों को बदबू आने लगी तो पड़ोस की एक लड़की ने छत पर जाकर देखा तो आंगन में सबकी लाशें पड़ी हुई थीं. लड़की ने जब आवाज लगाई तो लोग घर की छत पर पहुंचे और तुरंत पुलिस को सूचना दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने जब अंदर से बंद दरवाजा तोड़ा तो एक-दूसरे कमरे में बड़ी बेटी मोनिका की भी लाश पड़ी मिली. 
 
पड़ोसियों की मानें तो पिछले 2 दिनों से घर का कोई सदस्य बाहर नहीं दिखा. इसलिए ये लाश कम से कम 3 दिन पुरानी है. वहीं मृतक के रिश्तेदार और परिजन हत्या की आशंका जाहिर कर रहे हैं.