लखनऊ. यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कोप भाजन के शिकार विधायक रामपाल यादव को कोर्ट ने जमानत दे दी है. वे सीतापुर के बीसवीं विधानसभा से विधायक हैं. कोर्ट ने उनकी जमानत याचिक को स्वीकार कर लिया है. कल कोर्ट से उनकी रिहाई हो जाएगी. रामपाल के साथ सात अन्य सपा विधायकों को पचास-पचास हजार के पर्सनल बांड पर जमानत दी गई है. यह जमानत सत्र न्यायाधीश बी एल केसरवानी ने दी है.
 
क्या है मामला?
 
रामपाल यादव ने जियामऊ में अवैध अपार्टमेंट ढहाने के दौरान अपने समर्थकों के साथ लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) अफसरों व पुलिस के साथ दबंगई की थी. एलडीए इंजीनियर आलोक रंजन गुप्ता की शिकायत के बाद गौतमपल्ली पुलिस ने रामपाल व उनके समर्थकों के खिलाफ हत्या का प्रयास व अन्य संगीन धाराओं के अंतर्गत रिपोर्ट दर्ज की थी. रामपाल के अलावा मौके से पूर्व विधायक राजेंद्र यादव, उनके दोनों पुत्रों जितेंद्र यादव व पुष्पेंद्र यादव सहित कुल 9 लोगों को हिरासत में लिया गया था.