नई दिल्ली. जनसंघ के संस्थापक बलराज मधोक का 96 साल की उम्र में निधन हो गया है. प्रो. मधोक ने एम्स में एडमिट थे और उन्होंने वहीं अपनी आखिरी सांस ली. केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ट्वीट कर उनके निधन की जानकारी दी. इसके अलावा पीएम नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीटर के जरिए उन्हें याद करते हुए शोक जताया है. बता दें कि उनका जन्म 25 फरवरी 1920 को जम्मू कश्मीर के अस्कार्डू में हुआ था.

 
2 बार रह चुके हैं लोकसभा सदस्य
1947 में कश्मीर को बचाने, भारतीय जनसंघ की 1951 में स्थापना और ऊंचाईयो तक ले जाने में उनका योगदान रहा है. जानकारी के मुताबिक मधोक ने जनसंघ का संविधान भी लिखा था. वे 1960 के दशक के वरिष्ट राजनेता थे. साथ ही वह लोकसभा के दो बार सदस्य भी रह चुके हैं.
 
राजनीतिक जीवन का सफर
लाहौर में पढ़ाई के दौरान वह आरएसएस के संपर्क में आए थे. बीजेपी की मौजूदा छात्र इकाई एबीवीपी की नींव भी मधोक ने 1951 में डाली थी. उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के साथ मिलकर संघ परिवार की पॉलिटिकल पार्टी भारतीय जन संघ की स्थापना की थी. 27 मई 1951 को जनसंघ की पंजाब और दिल्ली ब्रांच बलराज मधोक ने स्थापित की थी. 1966-67 में मधोक जनसंघ के अध्यक्ष रहे हैं. इसके अलावा पार्टी ने उनकी प्रेसीडेंटशिप में 1967 का आम चुनाव लड़ा था. जनसंघ को इस चुनाव में अपनी सबसे बड़ी कामायाबी मिली और पार्टी ने 35 सीटें जीतीं.