बेगूसराय. बिहार के बेगूसराय से एक ऐसी खबर है जिसे सुनकर आप या तो हंसेंगे या माथा पीट लेंगे. यूपीएससी पास करके हैदराबाद में ट्रेनिंग लेकर एसपी बने एक आईपीएस अधिकारी को एक फर्जी आईपीएस ने ऐसा उल्लू बनाया कि दो साल तक वो मुफ्त में दो-दो बॉडीगार्ड लेकर यहां-वहां रौब झाड़ता रहा.
 
फर्जी आईपीएस अधिकारी बेगूसराय के ही परिहारा का आशीष आनंद निकला जिसने करीब ढाई साल पहले बेगूसराय के तत्कालीन एसपी मनोज कुमार के सामने खुद को आईपीएस अधिकारी के तौर पर पेश किया और मुफ्त में दो-दो सुरक्षा गार्ड हासिल कर लिए. आशीष ने एसपी से कहा था कि वो दिल्ली में पोस्टेड है लेकिन भारत-नेपाल सीमा पर स्पेशल ड्यूटी कर रहा है.
 
गार्ड रेन्यू कराने पहुंचा था फर्जी आईपीएस लेकिन इस बार पकड़ा गया
 
जब तक मनोज कुमार एसपी थे तब तक तो उसे कोई दिक्कत नहीं हुई लेकिन कुछ दिन पहले बेगूसराय में नए एसपी के तौर पर रंजीत कुमार मिश्रा की पोस्टिंग हो गई. आशीष आनंद पहुंचे नए एसपी के पास कि उन्हें मुहैया कराए गए दोनों सुरक्षा गार्ड रेन्यू कर दिए जाएं. 
 
नए एसपी रंजीत कुमार मिश्रा को फर्जी एसपी आशीष के हाव-भाव से शक हो गया और फिर जब असली वाले आईपीएस ने ठोंक-बजा कर पूछताछ शुरू की तो फर्जी आईपीएस ने सब उगल दिया. पुलिस ने आशीष को फर्जीवाड़े के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है और अब तैयारी चल रही है कि पिछले ढाई साल से दो सुरक्षा गार्ड का खर्चा भी उससे वसूला जाए.