ग्वालियर. भिंड में मंगलवार देर रात राजनीतिक रंजिश के तहत दो युवकों की गोली मार कर हत्या कर दी गई. एक युवक की हत्या भिंड के जिला अस्पताल परिसर के प्रसूति गृह में की गई. जबकि दूसरी हत्या अटेर में रिदौली गांव के निवासी युवक को गोली मार कर की गई.

आशंका जताई गई है कि दोनों हत्याओं का कराण राजनीतिक रंजिश बनी है. मरने वालों में एक भिंड के विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह का और दूसरा नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे का समर्थक है.  पुलिस ने दोनों वारदातों के संबंध में मामले दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है. भिंड के धर्मेंद, संजू और विमलेश अच्छे दोस्त थे, लेकिन विमलेश की नजदीकी नरेंद्र सिंह कुशवाह से, जबकि संजू को नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे का समर्थक माना जाता था. हालांकि तीनों हिस्ट्रीशीटर बदमाश भी बताए गए हैं.

मंगलवार रात विमलेश व संजू के बीच राजनीतिक रंजिश के संबंध में मोबाइल फोन पर शुरू हुई बातचीत उग्र विवाद में बदल गई और विमलेश ने तैश में आकर संजू के चतुर्वेदी नगर स्थित घर में घुस कर गोली मार दी. संजू को जब भिंड के जिला अस्पताल से ग्वालियर रैफर किया जा रहा था, उसी वक्त विमलेश भी वहां पहुंच गया। उसे देख, संजू के साथ आया तीसरा मित्र धर्मेद्र तैश में आ गया और उसके ऊपर बंदूक तान दी. बंदूक सामने देखकर विमलेश बचने के लिए अस्पताल के प्रसूति गृह में घुस गया लेकिन धर्मेंद्र ने वहां भी उसका पीछा किया, और बंदूक समेत प्रसूतिगृह में घुस गया. विमलेश के पास जा कर उसके ऊपर दो गोलियां दाग दीं. नतीजतन विमलेश की मौके पर ही मौत हो गई.

इसी तरह अटेर में कटारे समर्थक माने जाने वाले राजीव भदौरिया की फोन पर बुलाकर अज्ञात बदमाश ने गोली मारकर हत्या कर दी. भिंड में इन वारदातों के बाद राजनीतिक तनाव व्याप्त हो गया है. आशंका है कि बीते पंचायत और जिला पंचायत चुनावों से शुरू हुई रंजिशें इन वारदातों से और गहरा जाएंगी.

IANS