पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निजी क्षेत्र में आरक्षण का दायरा बढ़ाने की मांग की है. नीतीश कुमार ने तमिलनाडू का हवाला देते हुए 50 प्रतिशत से ज्यादा आरक्षण की मांग की है. उन्होंने कहा है कि इस पर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है.

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि अगर तमिलनाडू में 69 प्रतिशत आरक्षण हो सकता है तो दूसरे राज्यों में क्यों नहीं. नीतीश ने कहा कि संभव हो तो आरक्षण की सीमा बढ़ाने के लिए संविधान में संशोधन होना चाहिए. नीतीश कुमार ने कहा कि समाजिक न्याय के लिए निजी क्षेत्र में भी आरक्षण देना चाहिए.

शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ‘वीरमणि’ सम्मान से सम्मानित किया गया. नीतीश को यह सम्मान सामाजिक मुद्दों को लेकर लंबे समय से संघर्ष करने और समाज के वंचित वर्गों के न्यायपूर्ण विकास सुनिश्चित करने के लिए दिया गया है. यह सम्मान पेरियार इंटरनेशनल की तरफ से सामाजिक क्षेत्र में विशिष्ट योगदान देने वाले लोगों को दिया जाता है.

इसके लिए बिहार विधान परिषद के सभागार में एक समारोह का आयोजन किया गया था. सीएम नीतीश को संस्था के डॉ. के वीरमणि ने सम्मानित किया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को विधान परिषद एनेक्सी में सामाजिक न्याय के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने के लिए पच्चीसवें पेरियार इंटरनेशनल द्वारा ‘विरामणी’ पुरस्कार से नवाजा गया है. इसमें अवॉर्ड के साथ एक लाख का नगद पुरस्कार भी दिए गए.