श्रीनगर. जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के NIT कैंपस में झंडा फहराने को लेकर हुए विवाद के बाद पैरामिलिट्री फोर्स की पांच कंपनियां तैनात कर दी गईं हैं. दूसरी ओर, गैर कश्मीरी स्टूडेंट्स पर लाठीचार्ज करने वाला पुलिस स्टाफ खुद को एंटी नेशनल बताए जाने से दुखी है.

छात्राओं को मिल रही है रेप की धमकी

उत्तर प्रदेश से पढ़ने आई छात्रा ने आरोप लगाया है कि स्थानीय छात्र उसे और बाहर से आई बाकी छात्राओं को रेप की धमकी दे रहे हैं. उसने आरोप लगाया कि बुधवार को कश्मीरी छात्रों के एक समूह ने उनसे कहा कि एक के साथ रेप होगा तो सब ठंडे पड़ जाओगे.

छात्रा ने कहा कि सोमवार को पुलिस ने नॉन-कश्मीरी छात्रों की बेरहमी से पिटाई की. उन्हें जानवरों की तरह पीटा गया. एनआईटी के दो छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है और 31 के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई किए जाने की बात सामने आ रही है.

क्या है पूरा मामला

टी-20 विश्व कप में भारत वेस्ट इंडीज से हारा था, तब एनआईटी में मौजूद कश्मीरी स्टूडेंट्स ने जश्न मनाते हुए 1 अप्रैल को पाकिस्तानी झंडा दिखाया था. एनआईटी में जम्मू-कश्मीर के बाहर से आने वाल छात्रों ने इसका विरोध तिरंगा लहराकर किया.

इसके बाद विवाद शुरू हो गया. 1 अप्रैल से ही स्टूडेंट्स के दो गुट भारत और पाकिस्तान का झंडा लेकर विरोध कर रहे हैं.