जालना. मराठवाड़ा दर्द से कराह रहा है. साल दो साल से नहीं पांच साल से हजारों एकड़ खेती तबाह हो चुकी है. हजारों एकड़ मौसंबी के बगान जल चुके हैं. हजारों किसान मौत को गले लगा चुके हैं. जालना जिसे कभी अटल बिहारी बाजपाई ने सोने का पालना कहा था लेकिन पिछले कुछ साल में रोजाना ऐसे किस्से सुनने को आते हैं जिसे सुनकर आपकी रुह कांप जाएंगी.

मराठवाड़ा में पानी की इतनी किलल्त क्यों है. ये देखने और जानने के लिए इंडिया न्यूज़ की टीम मराठवाड़ा के जालना जिले में पहुंची. हमने देखा कि अंबर तालुका के ढाई हजार की आबादी वाले रामगवान गांव में अचानक एक पानी का टैंकर आया और अफरातफरी मच गई. बूंद-बूंद पानी के लिए क्यों तरस रहा है मराठवाड़ा ?

वीडियो में देखें ग्राउंड जीरो से ये खास रिपोर्ट