भोपाल. मध्य प्रदेश के विधायकों की सैलरी में बड़ा इजाफा हुआ है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की कैबिनेट ने विधायकों के वेतन बढ़ोतरी के प्रस्ताव पर बुधवार को मुहर लगा दी.

बढ़ोतरी के बाद अब मध्य प्रदेश के विधायकों को 71 हजार की बजाय 1 लाख 10 हजार रुपये प्रतिमाह वेतन मिलेगा, जबकि मंत्र‍ियों का वेतन 1.20 लाख से बढ़कर 1.70 लाख प्रतिमाह हो गया है. मुख्यमंत्री को 1.43 लाख रुपये की बजाय 2 लाख रुपये प्रति माह सैलरी मिलेगी.

छत्तीसगढ़ के विधायकों की भी सैलरी बढ़ी

छत्तीसगढ़ विधानसभा में भी बुधवार को विधायकों की सैलरी बढ़ाने से संबंधित विधेयक को हरी झंडी दे दी गई है. नए प्रावधान के मुताबिक विधायकों को अब हर महीने 75000 की बजाय 1.10 लाख रुपये सैलरी मिलेगी.

तेलंगाना के विधायकों को सबसे ज्यादा सैलरी

तेलंगाना विधायकों की सैलरी बढ़ाने के लिए मंगलवार को विधेयक विधानसभा में पास किया गया. इसके साथ ही तेलंगाना के विधायकों ने दिल्ली के विधायकों को भी सैलरी के मामले में पीछे छोड़ दिया. तेलंगाना के विधायकों की सैलरी 95 हजार से बढ़कर 2.5 लाख, जबकि मंत्रियों की सैलरी 2.4 लाख से बढ़कर 4 लाख हो जाएगी. जबकि सीएम के. चंद्रशेखर राव की सैलरी भी 2.4 लाख से बढ़कर 4.2 लाख हो जाएगी.