रायपुर. छत्तीसगढ़ के नामी और 3 लाख के इनाम नक्सली मनकुराम मंडावी ने मंगलवार को भारी विस्फोट के साथ आत्मसमर्पण किया है. जानकारी के अनुसार उसका यह फैसला छत्तीसगढ़ सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होना माना जा रहा है.
 
कई बड़ी वारदातों को अंजाम देने वाला मनकुराम 2005 से नक्सली गतिविधियों में जुड़ गया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक उसने सीआरपीएफ डीआईजी धीरज कुमार और बीजापुर एसपी केएल ध्रुव के सामने आत्मसमर्पण किया है. आत्मसमर्पित नक्सली नवम्बर 2005 में गीदम थाने में हुए हमले में भी शामिल रहा.
 
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में शासन की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर सोमवार को नारायणपुर पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा एवं आईटीबीपी के कमांडेंट के सामने 4 नकस्लियों ने आत्मसमर्पण किया.