जबलपुर. एमपी में जबलपुर से इटारसी स्टेशन के बीच एक युवक को 272 किलोमीटर तक खिड़की से लटकाकर पिटाई की गई. इस वारदात का एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में दिख रहा है कि ट्रेन की खिड़की से बंधे इस युवक को इसलिए पीटा जा रहा है कि इसने बिना पूछे पड़ोस में बैठे लड़कों के बोतल से पानी पी लिया था.

करीब चार घंटे ये युवक ऐसे ही लटका रहा. जहां ट्रेन रूकती वहीं तीनों युवक नीचे उतरते और खिड़की से बंधे इस युवक की बेल्ट और लात-घूंसों से पिटाई करते. दरअसल सुमित नाम के युवक को जबलपुर से मुबंई जाना था. वो जबलपुर में लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस में सवार हुआ. सुमित के बगल में तीन युवक बैठे थे. सुमित को प्यास लगी तो उसने बगल में बैठे लड़कों से बिना पूछे उनके बोतल से पानी पी लिया.

उसके बाद क्या था तीनों युवक सुमित पर टूट पड़े. तीनों सुमित की बुरी तरह से पिटाई की. इतने पर भी हैवानों का मन नहीं भरा तो उन्होंने चेन पुलिंग कर ट्रेन रोक दी और खिड़की से सुमित को बांधकर लटका दिया. इसके बाद तो हैवानियत का वो खेल शुरू हुआ कि किसी के भी रोंगटे खड़े हए जाएंगे.

जहां ट्रेन रुकती तीनों युवक नीचे उतरते और सुमित की पिटाई करते. ट्रेन खुल जाती तो तीनों युवक में ट्रेन में सवार हो जाते. फिर ट्रेन रुकती और हैवानियत का खेल शुरू हो जाता. करीब चार घंटे में ट्रेन 272 किलोमीटर तक दौड़ी और सुमित इसी तरह से लटका रहा.वो माफी की गुहार लगाता रहा लेकिन ना तो युवकों को रहम आई और ना ही ट्रेन में बैठे किसी यात्री ने उसे बचाने की कोशिश की.

सवाल तो जबलपुर से इटरासी तक प्लेटफॉर्म पर मौजूद लोगों पर भी उठने चाहिए कि किसी भी इंसान ने उसे बचाने की कोशिश नहीं की. सवाल जीआरपी और आरपीएफ पर भी उठ रहे हैं.

वीडियो में देखें पूरी खबर