लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सौहार्द की मिसाल पेश करते हुए हिंदू और मुस्लिम धर्म गुरुओं ने एक साथ होली मनाई. होली के मौके पर चौक उद्योग व्यापार मंडल और शुभ संस्कार समिति के मंच पर महंत देव्यागिरि और मौलाना कल्बे सादिक एक मंच पर मौजूद रहे. दोनों धर्म गुरुओं ने होली की बधाई दी और सभी ने शहीद भगत सिंह, राज गुरु, सुखदेव की फोटो पर माल्यार्पण कर उनके सहादत को सलाम किया. 
 
इससे पहले धर्मगुरुओं ने शहीद दिवस पर शहीद भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को याद किया और श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर शुभ संस्कार समिति के संस्थापक ऋद्धि गौर ने कहा कि आज का समय ‘भारत माता की जय’ कहने वालों को देशद्रोही और अपमान करने वालों को देश भक्त बताया जा रहा है. देश में ऐसी स्थिति पैदा हो गई. इसे देखते हुए होली पर आयोजित मेले में धर्मगुरुओं को बुलाकर देश को मजबूती प्रदान करने की कोशिश की गई.
 
वहीं मौलाना फिरंगी महली ने कहा कि गीता और कुरान में एकता और एक दूसरे के प्रति सर्मपण का संदेश देते हैं. महंत दैव्या गिरि ने कहा, “समय आ गया है कि हम बच्चों को अच्छे संस्कार दें, हमारी युवा पीढ़ी की मानसिकता ठीक होगी, तभी राष्ट्र की सेवा होगी.” 
सभी अतिथियों ने होली की बधाई देते हुए एकता, अखंडता, को मजबूत करने की बात कही और जो लोग आजादी के नाम पर देश को तोड़ने की बात कर रहे हैं, उनके मनसूबे कामयाब ना होने देने का संकल्प लिया.