पटना. बिहार दिवस पर स्थानीय पटेल मैदान में आयोजित राजकीय कार्यक्रम के दौरान जेडीयू विधान पार्षद राणा गंगेश्वर ने राष्ट्रगान पर सवाल उठाते हुए कहा कि जन गण मन अधिनायक जय हे.. कैसे राष्ट्रगान हो गया. इससे ऐसा लगता है कि हम गुलामी की तारीफ कर रहे हैं.

उन्होंने इस राष्ट्रगान को वापस करने की मांग की. श्री सिंह ने कहा कि इस गान से ऐसा लगता है कि जिन्होंने हम पर शासन किया, उनका हम गुणगान कर रहे हैं. उन्होंने इसे राष्ट्रीय गीत बता कर संबोधित किया. उन्होंने कहा कि  इससे अच्छा तो बिहार गीत है.

विधान पार्षद जैसे ही अपना संबोधन पूरा कर कुर्सी पर बैठे, नगर विकास मंत्री महेश्वर हजारी ने लोगों से विधान पार्षद की ओर से राष्ट्रगान पर की गयी टिप्पणी को लेकर अपनी ओर से माफी मांगी. जेडीयू ने राणा गंगेश्वर के इस बयान पर कार्रवाई करते हुए उनको पार्टी से निलंबित कर दिया है.