देहरादून. उत्तराखंड पुलिस के घोड़े शक्तिमान को ज़ख़्मी करने के आरोपी बीजेपी विधायक गणेश जोशी को देहरादून की कोर्ट से ज़मानत नहीं मिली. अदालत ने उनकी जमानत याचिका को आज सिरे से खारिज कर दिया.

बीजेपी के विरोध प्रदर्शन के दौरान उत्तराखंड पुलिस के घोड़े शक्तिमान को कथित रूप से लाठी से हमला कर गिराने के आरोपी मसूरी के बीजेपी विधायक गणेश जोशी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस के अनुसार, विधायक जोशी को गिरफ्तार कर नेहरू कालोनी पुलिस थाने लाया गया, जहां उनसे पूछताछ की गई.

पुलिस के इस कदम से नाराज बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने पुलिस द्वारा विधायक जोशी को गिरफ्तार करने के लिए राज्य सरकार की आलोचना की थी और कहा कि सरकार विपक्ष के विधायक को एक झूठे मामले में फंसा रही है.

इससे पहले, उत्तराखंड पुलिस ने इसी मामले में नैनीताल जिले के हल्द्वानी से भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के नेता प्रमोद बोरा को भी गिरफ्तार किया था.  बीजेपी विधायक गणेश जोशी और उनके सहयोगियों पर पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.