भोपाल. मध्यप्रदेश के ग्वालियर के वरिष्ठ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता जयंत सिंह तोमर ने वर्तमान में पत्रकारिता की निष्पक्षता की रक्षा के लिए आमरण अनशन शुरू कर दिया है. बुधवार से सत्याग्रह कर रहे तोमर का कहना है कि राज्य में पत्रकारिता में कारोबारियों और नेताओं की घुसपैठ बढ़ रही है.
 
उन्होंने आरोप लगाया है कि नेता व कारोबारी आज पत्रकारिता का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं. ग्वालियर में गांधी की प्रतिमा के सामने अनशन कर रहे पत्रकार तोमर ने पत्रकारों के लिए संरक्षण की मांग की है. उन्होंने कहा है कि जो पत्रकार समाजहित में आवाज उठाते हैं उन्हें सरक्षण दिया जाए.
 
तोमर ने कहा है कि राज्य में पत्रकारिता की स्थिति बिगड़ती जा रही है. उन्होंने कहा है कि इस बात का प्रमाण पिछले दिनों एक शराब कारोबारी के यहां आयकर के छापों के दौरान जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी किए गए अधिमान्यता के कार्ड का मिलना है. इससे बात एकदम साफ है कि शराब कारोबारी भी राज्य में अधिमान्यता प्राप्त पत्रकार हैं. 
 
बता दें कि इस अनशन के दौरान उनकी कोशिश पत्रकार संगठनों के नेताओं, समाचारपत्र समूह से जुड़े लोगों से लेकर सरकार के जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों से सीधे संवाद करने की होगी. वह उनसे अनुरोध करेंगे कि उन पत्रकारों को संरक्षण दिया जाए, जो समाजहित में आवाज उठाते हैं.