भोपाल. ज्योतिषपीठ एवं द्वारका शारदापीठ के जगदगुरू शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा है कि श्री श्री रविशंकर का आर्ट ऑफ लिविंग सिर्फ दिखावा है. उन्होंने सोमवार को संवाददाताओं से यह बात कही. 
 
यमुना नदी के प्रदुषित होने पर बात करते हुए उन्होंने श्री श्री रविशंकर पर कटाक्ष किया. उन्होंने कहा, ‘मनुष्य का जीवन बनावटी नहीं होना चाहिए. जो दिखावा करते हैं उसे आर्ट बोला जाता है. एक ओर गंगा और यमुना के शुद्घिकरण की बात करते हैं और दूसरी तरफ यमुना के किनारे कार्यक्रम करते हैं. इससे क्या यमुना नदी में प्रदूषण नहीं हुआ होगा?’
 
बता दें कि श्रीश्री का 11 मार्च से दिल्ली में यमुना के किनारे तीन दिन का विश्व सांस्कृतिक महोत्सव हुआ था. इस कार्यक्रम से यमुना नदी को नुकसान होने पर एनजीटी ने आर्ट ऑफ लिविंग को 5 करोड़ का जुर्माना भरने को कहा था.