रायपुर. छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या से निपटने के लिए चार नई बटालियन का गठन किया जाएगा, जिसमें स्थानीय लोगों की भर्ती होगी. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपने बजट भाषण में यह घोषणा की. उन्होंने कहा कि नई बटालियन में अधिक नक्सल प्रभावित जिलों के युवाओं को भर्ती किया जाएगा. करीब 70 हजार सुरक्षाकर्मियों के लिए 1000 करोड़ रुपये की लागत के दस हजार आवास बनाए जाएंगे. 
 
मुख्यमंत्री ने भाषण में कहा कि छत्तीसगढ़ देश जीएसडीपी रेशो में देश के पांच टॉप राज्यों में शामिल है. प्रदेश की जीडीपी बढ़कर 7.6 फीसदी हो गई है. प्रदेश में सूखे के बावजूद फसल का उत्पादन बढ़ा है. किसान अन्नदाता है, प्रदेश में आठ लाख से अधिक सूखा प्रभावित किसानों को राहत दी जाएगी. 
 
बजट में फसल बीमा के लिए 200 करोड़ रुपए की राशि का प्रावधान किया गया. जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए 20 करोड़ रुपए का प्रावधान, बीज अनुदान के लिए 150 करोड़ रुपए, कृषि कॉलेजों के लिए 12 करोड़ रुपए और सिंचाई विस्तार के लिए 2564 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया.
 
मुख्यमंत्री ने बजट भाषण में पंडरिया में शक्कर कारखाना बनाने की घोषणा की. जगदलपुर में 100 बिस्तरों का सुपर स्पेशलिटी अस्पताल खोले जाने की घोषणा की. अस्पतालों में भोजन की दर 60 से बढ़ाकर 100 रुपये प्रतिदिन की गई. 
 
इसके अलावा, दंतेवाड़ा की तर्ज पर एजुकेशन सिटी बीजापुर और सुकमा में भी स्थापित की जाएंगी. बस्तर और सरगुजा में यूनिवर्सिटी भवन के लिए 20 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. जगदलपुर और मुंगेली में क्रीड़ा परिसर खोला जाएगा. प्रधानमंत्री सड़क योजना के लिए 1062 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है.