बरेली. पूरे विश्व में जहां एक तरफ अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जा रहा है वहीं दूसरी और उत्तर प्रदेश के बरेली में महिला के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है.
 
लेकिन इस तरह के अपराध उनकी सुरक्षा में चूक को उजागर करते हैं. महिला के साथ शीशगढ़ में बस के अंदर ड्राइवर-कंडक्टर ने सोमवार रात को गैंगरेप किया है. जानकारी के अनुसार इस बीच हुई झड़प में महिला नीचे गिर गई और उसके 15 दिन के नवजात बच्चे की मौत हो गई.
 
बच्चे को दिलाने गई थी दवा
पीड़ित महिला रामपुर जिले में खजुरिया थाना क्षेत्र के एक गांव की है. महिला ने बताया कि उसके नवजात बच्चे की तबियत खराब थी. बच्चे को दवा दिलाने वह अपनी बहन के यहां शाही, बरेली आई थी. साथ में सात बरस की बड़ी बेटी थी. दवा लेकर लौटते में उसे देर हो गई. रात में वह गांव जाने को बस में सवार हुई थी.
 
शीशगढ़ बस अड्डे पर दो युवकों ने उसके साथ छेड़खानी की. इसी दौरान बच्चा गिरने से उसकी मौत हो गई. बस के ड्राइवर-कंडक्टर ने मदद की कहकर उसे बस में अकेले बिठाए रखा. दोनों ने बंधक बनाकर उसके साथ रेप किया. बाद में वे उसे बस से उताकर गायब हो गए.
 
पुलिस पर उठे सवाल
पुलिस की भूमिका पर सवाल उठ रहे है जिसमें बताया जा रहा है कि पुलिस वारदात पर परदा डालने की कोशिश कर रही है. जानकारी के अनुसार आरोपी अभी भी फरार है और मामले की जांच की जा रही है.
 
आला अफसर मामले में गैंगरेप और बच्चे की मौत के दोषी लोगों के साथ लापरवाही पुलिसकर्मियों पर भी कड़ी कार्रवाई की बात कह रहे हैं.