नई दिल्ली. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक अधिकारियों ने सोमवार को हडताल पर जाने की चेतावनी दी है. इस बीच भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने बयान जारी कर कहा कि उसके कर्मचारियों का एक वर्ग 29 फरवरी की हडताल में शामिल हो सकता है. बता दें कि इसी दिन वित्त मंत्री अरूण जेटली संसद में आम बजट पेश करने जा रहे हैं.
 
सार्वजनिक क्षेत्र (पीएसयू) के बैंक अधिकारियों के एक तबके ने धनलक्ष्मी बैंक अधिकारी संगठन के महासचिव पीवी मोहनन के निष्कासन के खिलाफ इस हड़ताल पर जाने का आह्वान किया गया है.
 
SBI ने भेजी बंबई शेयर बाजार को सूचना
 
बंबई शेयर बाजार में भारतीय स्टेयट बैंक द्वारा भेजी गई सूचना में कहा गया है कि अखिल भारतीय बैंक अधिकारी परिसंघ इस हड़ताल में शामिल होगी. इतना ही नहीं कहा जा रहा है कि सार्वजनिक क्षेत्र के एक अन्य बैंक इंडियन बैंक के कर्मचारी भी इस हड़ताल में शामिल हो सकते हैं.
 
इंडियन बैंक कर्मचारियों का कहना है कि उसके कर्मचारियों का एक वर्ग भी इस प्रस्तावित हड़ताल में शामिल हो सकता है. कर्मचारियों के बैंक हड़ताल पर जाने से कामकाज पूरी तरह से ठप रहेगा.
 
बैठक में कोई सामाधान नहीं 
अखिल भारतीय बैंक अधिकारी परिसंघ (एआईबीओसी) के महासचिव हरविन्दर सिंह ने कहा कि हमारे हर प्रयासों के बावजूद प्रबंधन के साथ सुलह वाली बैठक में मामले का कोई समाधान नहीं निकला. इसलिए हड़ताल पर जाने के अलावा कोई और विकल्प नहीं है. उन्होंने दावा किया कि एसोसिएशन के करीब 2.75 लाख अधिकारी इसके सदस्य हैं. 
 
ग्राहकों को दी गई दिक्कतों की जानकारी
 
यह भी बता दे कि बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक और आंध्र बैंक सहित कई बैंकों ने हड़ताल के आह्वान को देखते हुए ग्राहकों को इससे होने वाली दिक्कतों के बारे में पहले ही जानकारी दे दी है.