नई दिल्ली. राज्यसभा में बुधवार को कार्यवाही शुरू होने के बाद सदस्यों ने हैदराबाद विश्वविद्यालय के छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या के मुद्दे को उठाया, जिसके कारण सदन में खूब हंगामा हुआ और कार्यवाही कई बार बाधित हुई. इस दौरान सांसदों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. सदन की कार्यवाही हंगामे के कारण दोपहर 11 बजे शुरू होने के बाद पांच बार स्थगित की गई. सुबह में कई बार के स्थगनादेश के बाद सभापति हामिद अंसारी ने सदन की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी.
 
केंद्र सरकार को ठहराया जिम्मेदार 
बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने रोहित की आत्महत्या के मुद्दे को सदन में उठाया और इसके लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया. सांसदों ने नारेबाजी भी की. वे सरकार से रोहित की खुदकुशी मामले पर चर्चा कराने की मांग कर रहे थे. सांसद सभापति की आसंदी के पास पहुंच गए और उन्होंने प्रश्नकाल निलंबित कर पहले इस मुद्दे पर चर्चा कराने की मांग की. 
 
सभापति ने प्रश्नकाल चलने देने की अपील
सभापति हामिद अंसारी ने नारेबाजी कर रहे सांसदों से शांत रहने और प्रश्नकाल चलने देने की अपील की तथा इस मुद्दे को दिन में बाद में उठाने के लिए कहा. उन्होंने कहा कि प्रश्नकाल सदस्यों का अधिकार है, जो सरकार से सवाल करते हैं.उन्होंने कहा, “सवालों को सूचीबद्ध कर लिया गया है, जिनके जवाब दिए जाने हैं.” 
 
रोहित के परिवार के लिए मांगा न्याय
सरकार और सभापति ने भी कहा कि यह मुद्दा दिन में चर्चा के लिए सूचीबद्ध है. फिर भी, बसपा सदस्यों की नारेबाजी जारी रही. उन्होंने रोहित के परिवार के लिए न्याय की मांग की. साथ ही सरकार पर दलित विरोधी होने का आरोप लगाया.
 
सरकार को बताया दलित विरोधी
बसपा नेता मायावती ने कहा कि सरकार को पहले इस मुद्दे पर जवाब देना चाहिए. उन्होंने कहा, “यह पहली बार नहीं है जब किसी दलित छात्र ने आत्महत्या की है. रोहित अम्बेडकर का समर्थक थाय आरएसएस को यह पसंद नहीं था, जिसके कारण उसका शोषण किया गया.” 
 
सभापति के समक्ष की नारेबाजी 
इससे पहले भी बसपा सदस्यों ने सभापति की आसंदी के समक्ष नारेबाजी की, जिसके कारण सदन की कार्यवाही पहले 10 मिनट के लिए और फिर दोपहर तक के लिए स्थगित कर दी गई थी. दलित छात्र की खुदकुशी के विरोध में व्यापक प्रदर्शन हुए हैं. प्रदर्शनकारी केंद्रीय मंत्रियों स्मृति ईरानी और बंडारू दत्तात्रेय के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. वे उन पर वेमुला को आत्महत्या के लिए बाध्य करने का आरोप लगा रहे हैं.