पटना.  बिहार के जानेमाने डॉक्टर डॉ. पंकज कुमार गुप्ता और उनकी पत्नी शुभ्रा गुप्ता के अपहरण के पांच दिन गुजर जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं. इस घटना से लोगों के बीच काफी आक्रोश है. घटना से नाराज लोगों ने इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को काले झंडे दिखाएं. नीतीश ने डीजीपी को इस मामले पर जल्द कारवाई करने का निर्देश दिया है. 

इस मसले पर बिहार राज्य स्वास्थ्य सेवा संघ (भासा) ने आंदोलन की चेतावनी दी है. भासा की सोमवार को हुई एक बैठक में सरकार को अगवा डॉक्टर दंपती की सकुशल रिहाई के लिए 48 घंटे का समय दिया है नहीं तो आंदोलन की चेतावनी दी है. सूत्रों के अनुसार, इस मामले की छानबीन कर रही विशेष जांच दल (एसआईटी) ने एक व्यक्ति को हिरासत में भी लिया है.  

सूत्रों के अनुसार अपहरणकर्ता डॉक्टर दंपती को चंदौली के रास्ते यूपी लेकर गए हैं. गौरतलब है कि गुप्ता और उनकी पत्नी का गया जिले के जीटी रोड पर बाराचट्टी के पास से शुक्रवार शाम उस समय अपहरण कर लिया गया था जब ये दोनों झारखंड के गिरीडीह जिले में एक शादी समारोह में शिरकत करने के बाद अपनी नई ऑडी कार से वापस घर लौट रहे थे.