पणजी. भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ (एनएसयूआई) अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की ‘यूनिवर्सिटी परिसरों पर अपना नियंत्रण जमाने की कोशिश’ को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए देशभर में वाम मोर्चे के छात्र संघों से हाथ मिलाएगा.
 
एनएसयूआई की राष्ट्रीय सचिव हसीबा अमीन ने कहा, “हम बीजेपी और उसकी छात्र इकाई एबीवीपी द्वारा यूनिवर्सिटी परिसरों पर अपना नियंत्रण जमाने और नफरत की विचारधारा के प्रचार-प्रसार की उनकी कोशिश का सामना वाम मोर्चे के छात्र संघों के साथ मिलकर करेंगे.” 
 
हसीबा जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी के बाद बने माहौल को लेकर मीडिया के एक सवाल का जवाब दे रही थीं. एनएसयूआई नेता हसीबा ने यह भी कहा कि बीजेपी देश के शीर्ष शैक्षणिक संस्थानों को निशाना बनाने की कोशिश में है और जेएनयू इसी की एक कड़ी है. 
 
उन्होंने कहा, “वे जेएनयू, हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी और अन्य अग्रणी शैक्षणिक संस्थानों को निशाना बना रहे हैं. हमें यकीन है कि कई यूनिवर्सिटी बीजेपी की हिटलिस्ट में हैं.” एनएसयूआई भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की छात्र इकाई है.