लखनऊ. यूपी की राजधानी लखनऊ के किंगजॉर्ज मेडिकल कॉलेज में एक छात्र विनोद जेएनयू मामले में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बयानों से इतना दुखी हुआ कि उसने राहुल के लिए मानसिक रूप से बीमार का ओपीडी कार्ड बनवा दिया. केजीएमयू प्रशासन को जब इस संबंध में देर शाम सूचना मिली तो उन्होंने बीडीएस-2009 बैच के स्टूडेंट डॉ. विनोद के साथ रजिस्ट्रेशन करने वाले क्लर्क को भी सस्पेंड कर दिया.
 
‘देश विरोधी बयानबाजी का साथ दे रहें हैं राहुल’
मेडिकल छात्र विनोद ने यह कहा है कि जेएनयू कांड के बाद राहुल ने जिस तरह का बयान दिया है उससे लगता है कि उनकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है. यही वजह है कि वे देश विरोधी बयानबाजी करने वालों का साथ दे रहे हैं. छात्र के मुताबिक उनका इलाज केजीएमयू के मेंटल सेक्शन में करवाना जरूरी है.
 
कार्ड में लिखे हैं ये डिटेल्स 
छात्र की ओर से 16 फरवरी को केजीएमयू की ओपीडी बिल्डिंग में इलाज के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया है. कार्ड में उनकी मां सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली के पता को लिया गया है जिसमें मरीज का नाम राहुल गांधी, पिता का नाम राजीव गांधी, उम्र 45 वर्ष, पता रायबरेली, ब्लड ग्रुप अननोन सहित इमरजेंसी नंबर के तौर पर स्टूडेंट ने अपना नंबर दर्ज करवाया है. इसके आलावा कार्ड का रजिस्ट्रेशन नंबर KGMU/GMAH/2016/02/021665 है. छात्र विनोद 2009 बैच का बीडीएस स्टूडेंट है और पीजी की तैयारी कर रहा है.
 
‘वॉट्सऐप पर दोस्तों को किया था फोटो शेयर’
संस्पेंड होने के बाद डॉ. विनोद ने बताया कि राहुल गांधी के नाम से ओपीडी रजिस्ट्रेशन कार्ड बनवाकर उसका फोटो वॉट्सऐप पर दोस्तों के ग्रुप में शेयर किया था. कुछ ही देर में इस कार्ड का फोटो वायरल हो गया. डॉ. विनोद ने बताया कि उन्होंने सिर्फ ओपीडी कार्ड बनवाया था. किसी अलग विभाग की पर्ची नहीं बनवाई थी.