बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने अंतागढ़ टेपकांड की सैंपलिंग रिपोर्ट के मसले पर कहा कि नेता प्रतिपक्ष को कम से कम कानून की प्राथमिक जानकारी तो रखनी ही चाहिए. उन्हें यही नहीं पता कि टेस्टिंग से पहले वॉइस सैम्पल जरूरी है. इसके अलावा यह जांच पुलिस ही करा सकती है.
 
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के बयान पर उन्होंने कहा कि 20 हजार लोगों ने अमित का स्वागत किया है, क्या वे इतने लोगों को कांग्रेस से निकाल बाहर करेंगे? 
 
जोगी ने कहा कि बघेल को पार्टी संविधान का ज्ञान नहीं है. पहले संविधान का अध्ययन कर लें, फिर इस तरह की बयानबाजी करें. कांग्रेस किसी की निजी संपत्ति नहीं है. कार्यकर्ता व आम लोग कांग्रेस के साथ आस्था से जुड़े हुए हैं.
 
पूर्व मुख्यमंत्री जोगी मरवाही सदन में गुरुवार की शाम पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे. उन्होंने कहा कि राज्य में सूखे की विकराल स्थिति है. कर्ज से परेशान किसान खुदकुशी कर रहे हैं. मुख्यमंत्री के गृह जिले में स्थिति और भी भयानक है. राज्य सरकार के खिलाफ ज्वलंत मुद्दे हैं. किसानों को बोनस नहीं मिल रहा है. बीते साल जिस कंपनी ने फसल बीमा किया था आजतक किसानों को क्षतिपूर्ति का भुगतान नहीं किया गया है. अकाल प्रभावित क्षेत्रों में मनरेगा का काम ठप पड़ा हुआ है. मजदूरी का भुगतान भी नहीं हो रहा है.