पुट्टुर. कर्नाटक के केरल सीमा पर स्थित पुट्टुर जिले में मुस्लिम परिवार की बेटी फातिमा राहिला ने ‘रामायण’ पर आधारित परीक्षा में पूरे जिले में टॉप किया है. भारतीय संस्कृति प्रतिष्ठान ने नवंबर 2015 में ‘रामायण’ पर आधारित एक परीक्षा आयोजित की थी. इस प्रतियोगिता में सुल्लियापडावु के सर्वोदय हाई स्कूल में नौंवी कक्षा में पढ़ने वाली राहिला ने परीक्षा में 93 फीसद अंक हासिल किए हैं.
 
रामायण और महाभारत पढ़ना चाहती हैं फातिमा
राहिला ने बताया कि वह हिंदू धर्म के दो सबसे बड़े धार्मिक ग्रंथों रामायण और महाभारत पर आधारित पाठ्यक्रम पढ़ना चाहती हैं. फातिमा की हिंदू धर्म साहित्य में रूचि कक्षा 9 में पैदा हुई थी. फातिमा ने कहा कि मैंने मेरे अंकल की मदद से इसकी तैयारी शुरू की थी. अब मेरी इच्छा है कि मैं महाभारत एग्जाम में हिस्सा लूं. वहीं, स्कूल के प्रिंसिपल का कहना है कि छात्रों ने एग्जाम में हिस्सा खुद से तैयारी करके लिया था. इसके लिए उन पर कोई दबाव नहीं डाला गया.
 
फातिमा के चाचा ने की मदद
फातिमा के पिता इब्राहिम एम ने कहा कि इस में फातिमा के चाचा ने उसकी मदद की है. फातिमा की मां होममेकर हैं. उसके माता-पिता की इच्छा थी कि उनकी बेटी पूरे राज्य में टॉप करे. इब्राहिम का कहना है कि उसने राज्य में टॉप करने के लिए काफी मेहनत की, लेकिन वह इसे हासिल नहीं कर पाई. बता दें कि राहिला के स्कूल से इस बार 39 विद्यार्थियों ने यह परीक्षा दी थी. इस परीक्षा में सिर्फ 8वीं और 9वीं कक्षा के विद्यार्थी ही हिस्सा ले सकते हैं. बोर्ड परीक्षाओं में बैठने वाले विद्यार्थियों को इसमें नहीं बैठने दिया जाता है.