नई दिल्ली. कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर के बचाव में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मोर्चा संभाल चुके हैं . केजरीवाल ने तोमर का बचाव करते हुए कहा कि यदि तोमर ने कुछ गलत किया होता, तो वह उनसे निश्चित तौर पर इस्तीफा देने के लिए कहे होते. केजरीवाल ने कहा, ‘मैं तोमर का रिश्तेदार या मित्र नहीं हूं. मैंने इस विवाद पर तोमर से जवाब मांगा था. उन्होंने एक संतोषजनक जवाब दिया और कहा कि उनकी कोई गलती नहीं है, क्योंकि उनकी डिग्री असली है.’

केजरीवाल ने कहा कि सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत तोमर की कानून की डिग्री के बारे में बिहार के एक विश्वविद्यालय से मांगी गई जानकारी के लिए एक गलत अनुक्रमांक पेश किया गया था. ऐसा उनकी छवि खराब करने के लिए किया गया था. तोमर पर आरोप है कि उनकी कानून की डिग्री फर्जी है. 
केजरीवाल एक मल्टीमीडिया वेबसाइट के लांच के मौके पर बोल रहे थे.  उन्होंने जंतर मंतर पर 22 अप्रैल को आयोजित आप की एक रैली में राजस्थान के एक किसान, गजेंद्र सिंह द्वारा की गई आत्महत्या पर भी बात की. उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि गजेंद्र ने जब फांसी लगा ली तो मुझे रैली रद्द कर देनी चाहिए थी.’