लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में वकीलों द्वारा किए गए हिंसक प्रदर्शन के बाद हाईकोर्ट (खंडपीठ) और उसके आसपास के क्षेत्र में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है. इस प्रदर्शन में 40 लोग घायल हो चुके हैं. अधिकारियों ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी. एक अधिकारी ने बताया, इस इलाके में सुरक्षा और सावधानी के मद्देनजर धारा 144 लागू कर दी गई है. 
 
 
इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ के वकीलों ने राजाधानी में एक वकील की हत्या के विरोध में मंगलवार को जमकर प्रदर्शन किया था. वकीलों ने सड़क पर खड़े वाहनों में तोड़फोड़ की, राहगीरों से मारपीट की, पत्रकारों के कैमरे तोड़ दिए और स्वास्थ्य भवन के अधिकारियों और पुलिस वालों पर भी हमला किया. बुधवार को विरोध प्रदर्शन की वजह से हिंसाग्रस्त सड़क पर जाम में फंसकर दो रोगियों ने दम तोड़ दिया.
 
अधिकारियों का कहना है कि प्रदर्शनकारी वकीलों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है. अवध बार एसोसिएशन के महासचिव आर.डी शाही ने बताया कि वकीलों का कामकाज गुरुवार को भी बंद रहेगा.