कश्मीर: संसद हमले के दोषी अफजल गुरु को लेकर कश्मीर में एकबार फिर से हलचल शुरू हो गया है. अलगाववादी नेताओं ने अफजल गुरु की अस्थियों की मांग करते हुए बंद का ऐलान किया है. साथ ही 11 फरवरी को जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के संस्थापक मकबूल भट को फांसी पर लटकाए जाने के विरोध में भी हड़ताल का आह्वान किया गया है.
 
अलगाववादी नेताओं के कश्मीर बंद ऐलान को देखते हुए सीआरपीएफ ने कश्मीर घाटी में हाई अलर्ट जारी किया है और अपनी सभी इकाईयों को पूरी घाटी में तैनात किया है.
 
अलगाववादियों ने बुलाया आज से 3 दिवसीय बंद
कश्मीर में अलगाववादियों ने आज से तीन दिवसीय बंद बुलाया है. यह हड़ताल संसद पर हमला करने के दोषी अफजल गुरु और मकबूल बट की बरसी मनाने के लिए बुलाई जा रही है. बता दें कि अफजल गुरु को 9 फरवरी, 2013 को फांसी दे दी गई थी. जिसके विरोध में 10 फरवरी को घाटी में प्रदर्शन किए जाएंगे. वहीं, 11 फरवरी को जेकेएलएफ आतंकी संगठन के संस्थापक मकबूल बट की 32वीं बरसी है. भट को 11 फरवरी 1984 को फांसी दे दी गई थी.
 
गतिविधियों पर CRPF की पैनी नजर
सीआरपीएफ की मानें तो सुरक्षा को देखते हुए घाटी और दूरवर्ती इलाकों में जवानों की तैनाती की गई है और उन्हें विभिन्न गतिविधियों पर पैनी नजर रखने को कहा गया है साथ ही पुलिस के साथ समन्वय बनाए रखने को कहा गया है. वहीं सीआरपीएफ के डीआईजी संजीव धुंदिया ने सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों और जवानों से सतर्क और अलर्ट रहने के लिए कहा. उन्होंने एक घटना का जिक्र करते हुए बताया कि कुछ हफ्ते पहले सराफ कादल इलाके में पथराव के बीच सीआरपीएफ के जवानों पर ग्रेनेड फेंका गया था लेकिन संयोग से ग्रेनेड में विस्फोट नहीं हुआ.
 
यासीन मलिक की गिरफ्तारी
जम्मू कश्मीर पुलिस ने सोमवार को जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जे.के.एल.एफ.) प्रमुख यासीन मलिक को संसद हमले में दोषी अफजल गुरु की बरसी की पूर्व संध्या रैलियों का आयोजन करने से रोकने के लिए गिरफ्तार कर लिया गया. मलिक को कई नेताओं के साथ शहर के आबीगुजर इलाके से गिरफ्तार किया गया है.
 
अलर्ट के चलते जनजीवन प्रभावित
श्रीनगर और कश्मीर घाटी के अन्य बड़े शहरों व नगरों में मंगलवार सुबह दुकानें, सार्वजनिक परिवहन एवं अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे. सार्वजनिक वाहनों की उपलब्धता न होने की वजह से सरकारी कार्यालयों, बैंकों व डाक घर में लोगों की उपस्थिति बहुत कम रही.बारामूला और बनिहाल नगर के बीच ट्रेन सेवाएं भी स्थगित रहीं.