शामली.  ट्रेन में दो जमातियों से शुक्रवार को मारपीट के विरोध में कांधला धधक उठा.  घटना के विरोध में सपा विधायक नाहिद हसन के नेतृत्व में हजारों लोग रेल ट्रैक पर जम गए और दो ट्रेनों पर जमकर पथराव किया. मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों ने भीड़ को समझाने की कोशिश की, लेकिन भीड़ और भी उग्र हो गई. उसने थाने पर हमला बोल दिया और वहां खड़ी गाड़ियों में आग लगा दी.

जवाब में पुलिस को भी फायरिंग और लाठीचार्ज करना पड़ा, जिसमें 25 लोग घायल हो गए हैं. एसपी विजय भूषण के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने थाने का घेराव और पथराव किया और कुछ वाहनों में आग लगा दी. भूषण ने कहा कि हिंसक प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया.

गौरतलब है कि शुक्रवार की रात सात बजे दो तबलीकी जमाती दिल्ली से सहारनपुर जाने वाली ट्रेन में कांधला आ रहे थे. रास्ते में कुछ शरारती तत्वों ने जमातियों के साथ गाली गलौच की और मारपीट कर मौके से फरार हो गए. कांधला पहुंचकर जमातियों ने आपबीती सुनाई, जिसके बाद समुदाय के लोग भड़क गए और हंगामा शुरू कर दिया.