पुणे. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता एक तांत्रिक की तरफ से ‘हवा में से निकालते हुए’ दिखाये जा रहे हार को लेने के बाद अंधविश्वास विरोधी कार्यकर्ताओं की आलोचनाओं का सामना कर रहीं हैं.

घटना पुणे के एक शिक्षण संस्थान द्वारा आयोजित पुरस्कार समारोह की है. मराठी चैनलों द्वारा लगातार प्रसारित किये जा रहे फुटेज में तांत्रिक गुरवानंद स्वामी को अमृता को गले का एक हार देते हुए दिखाया जा रहा है जो कथित तौर पर हवा से प्रकट होता लगता है.

सीएम मांगे माफी

महाराष्ट्र अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के अध्यक्ष अविनाश पाटिल ने कहा कि मुख्यमंत्री को अपनी पत्नी के कृत्य पर रुख स्पष्ट करना चाहिए. पाटिल ने कहा, ‘फडणवीस को घटना पर स्पष्टीकरण जारी करना चाहिए. अगर जरूरत लगी तो उन्हें माफी मांगनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि अगर तांत्रिक वैज्ञानिक रूप से हमारे द्वारा तय नियंत्रित स्थितियों में अपना चमत्कार करके दिखा दें तो हम उन्हें इनाम के तौर पर 21 लाख रुपये देने को तैयार हैं.

चमत्कारों में विश्वास नहीं रखतीं- अमृता

वहीं, अमृता ने आज कहा कि वह चमत्कारों में विश्वास नहीं रखतीं. उन्होंने कहा कि मैंने एक बुजुर्ग व्यक्ति के तौर पर उन्हें सम्मान देने के लिए अभिवादन किया. मैं इन्हीं संस्कारों के साथ पली-बढ़ी हूं और मैं इन्हें अमल में लाती रहूंगी. अमृता ने कहा कि गुरवानंद स्वामी ने मुझे आशीर्वाद के तौर पर हार दिया. मैं किसी तरह के चमत्कार में विश्वास नहीं करती.

अंधविश्वास विरोधी कार्यकर्ता नरेंद्र दाभोलकर की हत्या के बाद महाराष्ट्र में कानून के माध्यम से अंधविश्वास पर प्रतिबंध लगाया गया था.