बेंगलूरू. वरथुर के पास एक तेंदुआ एक प्राईवेट स्कूल में घुस गया और उसने लोगों पर हमला कर दिया जिससे एक पशुचिकित्सक सहित वनविभाग के 6 लोग जख्मी हो गए. तक़रीबन 12 घंटे की कोशिश के बाद बेहोशी की दवा से भरे इंजेक्शन देने में वन विभाग के अधिकारी कामयाब रहे.
 
अधिकारियों ने बताया कि स्कूल परिसर में तेंदुआ उस समय घुस आया जब कुछ स्टाफ काम कर रहा था. तभी तेंदुए ने एक शख्स पर हमला कर दिया और शख्स को जमीन पर गिरा लिया. इसके बाद शख्स खुद को तेंदुए से मुक्त कराने में जुट गया. उसने तेंदुए को खुद से हटा दिया. इसके बाद तेंदुए ने एक के बाद एक करके छह लोगों को घायल कर दिया. पूरे स्कूल परिसर में हड़कप मचा हुआ है.
 
अधिकारियों ने बताया दिन भर चले अभियान के बाद तेंदुए को बेहोश कर दिया गया और एक पशुचिकित्सक सहित घायल हुए 6 व्यक्तियों को पास के हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है. विबग्योर स्कूल के सीसीटीवी में सुबह चार बजकर करीब 13 मिनट पर तेंदुआ पहली बार देखा गया. रविवार होने की वजह से स्कूल बंद था. नहीं तो बड़ा हादसा भी हो सकता था.
 
स्कूल प्राधिकारियों ने वन विभाग और पुलिस अधिकारियों को सूचित किया. तेंदुआ दिन में स्कूल परिसर से भाग गया और पास की झाड़ियों में जाकर छिप गया. 
 
अधिकारियों ने कहा कि प्राधिकारी उसे पकड़ने की कोशिश कर ही रहे थे तभी तेंदुआ स्कूल भवन की दीवार फांद कर वापस स्कूल परिसर में आ गया और फिर उसे बेहोश कर दिया गया. पहली बार 2012 में पास के जंगलों से इस इलाके में एक तेंदुआ घुस आया था.