मुंबई. सीबीआई ने विशेष मकोका अदालत से आग्रह किया कि पत्रकार जे. डे हत्याकांड की जांच के लिए माफिया डॉन राजेंद्र एस. निखलजे उर्फ छोटा राजन को आवाज का नमूना देने के लिए आदेश दिया जाएं.
 
विशेष अदालत में सुनवाई के दौरान सीबीआई के वकील भरत बदामी ने विशेष न्यायाधीश एस. एस. अदकर को सूचित किया कि पहले छोटा राजन ने अपने आवाज का नमूना देने की सहमति दी थी, लेकिन बाद में उसने इंकार कर दिया. राजन वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए दिल्ली की तिहाड़ जेल से अदालत में सुनवाई के दौरान पेश हुआ.
 
इस पर अदकर ने राजन के वकील अंशुमान सिन्हा से जवाब दायर करने के लिए कहा. मामले की अगली सुनवाई 11 फरवरी को होगी.
 
सीबीआई ने दिवंगत डे के मोबाइल फोन, दो लैपटॉप और एक कंप्यूटर हार्ड डिस्क की नई दिल्ली स्थित सीएफएसएल में फोरेंसिक जांच के लिए भी आग्रह किया, ताकि डिलीट डेटा वापस हासिल किए जा सकें.
 
मुंबई के टेबलॉयड अंग्रेजी अखबार, मिडडे के चर्चित अपराध संवाददाता और इनवेस्टिगेशन एडिटर डे की हत्या चार मोटरसाइकिल सवार हमलावरों ने 11 जून, 2011 को उनके पवई स्थित घर के पास गोली मारकर कर दी थी. यह हत्या छोटा राजन के कहने पर हीरानंदानी कॉम्प्लेक्स में स्थित डीमार्ट के पास की गई थी. 
 
बता दें छोटा राजन को पिछले साल 25 अक्टूबर को इंडोनेशिया के बाली हवाईअड्डे से गिरफ्तार किया गया था. बाद में उसे भारत प्रत्यर्पित कर दिया गया. डे हत्याकांड के अलावा राजन पर 70 अन्य गंभीर मामले हैं, और महाराष्ट्र सरकार ने सभी मामले सीबीआई को सौंप दिए हैं.