रायपुर. छत्तीसगढ़ के लगभग एक हजार 600 राइस मिल मालिकों ने  मुख्यमंत्री के सामने गैस सब्सिडी छोड़ने का ऐलान किया. राजधानी रायपुर में राइस मिलरों का राज्यस्तरीय वार्षिक सम्मेलन आयोजित किया गया.
 
इस सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि राज्य की सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) ने पूरे देश-दुनिया में छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है. देश की सुप्रीम कोर्ट ने भी इसे आदर्श मानते हुए अन्य राज्यों को इनका अनुकरण करने की सलाह दी है. 
 
डॉ. सिंह ने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली की कामयाबी में यहां के राइस मिलर्स का भी महत्वपूर्ण योगदान है. राइस मिलर अपनी इस जिम्मेदारी को समझें और चावल की गुणवत्ता को हमेशा की तरह उच्च स्तर का बनाएं रखें. उन्होंने कहा कि चावल की गुणवत्ता में कमी स्वीकार नहीं की जाएगी. 
 
मुख्यमंत्री की अपील पर राज्य के लगभग एक हजार 600 राइस मिल मालिकों ने यहां सर्वसम्मति से गैस सब्सिडी छोड़ने का ऐलान किया. सम्मेलन की अध्यक्षता खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति तथा उपभोक्ता संरक्षण मंत्री पुन्नूलाल मोहले ने की.