बिहार. ट्रेन में महिला से छेड़खानी करने के आरोप में जेडीयू विधायक सरफराज आलम को पार्टी से सस्पेंड कर दिया गया है. दिल्ली के एक दंपत्ति ने आरोप लगाया था कि दिल्ली से गुवाहाटी जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस में सफर करते वक्त जेडीयू विधायक सरफराज आलम और उनके बॉडीगार्ड ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया है.

इस मामले में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहले ही आरोपी विधायक के खिलाफ कार्रवाई करने मन बना लिया था. इसकी घोषणा खुद उन्होंने की थी.

नीतीश कुमार ने इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दी और साफ़ किया कि राजधानी एक्सप्रेस में जो कुछ भी आलम का व्यवहार रहा, उसका बचाव नहीं किया जा सकता. विधायक सरफ़राज़ आलम पर आरोप है कि पिछले रविवार को डिब्रुगढ़ से नई दिल्ली जा रही राजधानी एक्सप्रेस में एक दम्पति के साथ न केवल दुर्व्यवहार, किया बल्कि छेड़खानी भी की.

हालांकि शुरू में आलम ने राजधानी में यात्रा करने से ही इंकार किया था, लेकिन सीसीटीवी फुटेज से स्पष्ट हो गया कि आलम न केवल ट्रेन में सवार थे, बल्कि उनके मोबाइल की लोकेशन से भी इस बात की भी पुष्टि हुई कि वे कटिहार से पटना गए थे.

नीतीश कुमार ने माना कि आलम ने उनसे मिलने का समय मांगा था और जब वे नहीं आए तो उनका शक पुख्ता हो गया कि आलम कांड करने के बाद बचने की कोशिश कर रहे हैं. नीतीश कुमार ने साफ़ किया कि कानून को हाथ में लेने की किसी को इजाजत नहीं मिल सकती और पुलिस कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है.