दरभंगा. बिहार के एक बड़े अस्पताल में भूकंप पीड़ितों के माथे पर ‘भूकंप’ लिखा पट्टा चिपकाए जाने का मामला अब तूल पकड़ने लगा है. बिहार सरकार ने इस मामले में जांच आदेश दे दिए है, वहीं विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दोषियों पर तत्काल कारवाई करने की मांग की है. दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती किए गए भूकंप से घायल मरीजों की पहचान के लिए अस्पताल प्रशासन ने उनके माथे पर भूकंप लिखा पट्टा चिपका दिया था. 

इस असंवेदनशील रवैये की खबर मीडिया में आने पर अस्पताल प्रशासन सतर्क हुआ और तत्काल मरीजों के माथे से पट्टे हटा दिए गए. इस मामले को तूल पकड़ता देख बिहार के पशुपालन मंत्री एवं दरभंगा के प्रभारी मंत्री वैद्यनाथ साहनी ने तत्काल दरभंगा के जिलाधिकारी को जांच के आदेश दे दिए. उन्होंने कहा कि इस असंवेदनशील रवैये के लिए दोषियों के खिलाफ उचित कारवाई की जाएगी.

इधर, विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और भाजपा के वरिष्ठ नेता नंदकिशोर यादव ने कहा, “एक ओर जहां पूरी दुनिया भूकंप पीड़ितों को राहत पहुंचाने में लगी है, वहीं बिहार सरकार की अस्पताल बेशर्मी की हद पार करते हुए घायलों के माथे पर ‘भूकंप’ का पट्टा चिपका रहा है.” उन्होंने दोषियों के खिलाफ कड़ी कारवाई की मांग की है. उल्लेखनीय है कि बिहार में भूकंप से 60 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है तथा 200 से ज्यादा लोग घायल हैं.

IANS