चंडीगढ़. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम पर सवाल उठाते हुए केंद्र सरकार से किसानों और श्रमिकों की मदद करने की मांग की. राहुल ने बुधवार सुबह दिल्ली रवाना होने से पहले मीडिया के साथ संक्षिप्त बातचीत में कहा, “प्रधानमंत्री ‘मेक इन इंडिया’ की बात करते हैं. पंजाब के किसान से ज्यादा ‘मेक इन इंडिया’ कोई नहीं करता. उन्होंने अनाजों का उत्पादन कर भारत को खड़ा किया है.”

राहुल ने कहा, “जब गरीब ‘मेक इन इंडिया’ करते हैं, तो क्या यह ‘मेक इन इंडिया’ नहीं है? क्या यह अलग है?” उन्होंने कहा कि केंद्र तथा पंजाब सरकार को किसानों की मदद करनी चाहिए. कांग्रेस नेता ने कहा, “किसान और श्रमिक देश की रीढ़ हैं. ‘मेक इन इंडिया’ की शुरुआत इनसे होनी चाहिए.” भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों ने जहां किसानों को लेकर राहुल की चिंता को ‘राजनीतिक हथकंडा’ करार दिया है, वहीं राहुल ने कहा, “मुझे जब भी लगेगा कि किसानों और श्रमिकों का शोषण हो रहा है, मैं उनके साथ खड़ा रहूंगा. मैं उनके पास जाउंगा और उनकी आवाज उठाउंगा.”

राहुल ने पंजाब के सरहिंद, खन्ना और मंडी गोबिंदगढ़ शहर में मंगलवार को अनाज मंडी का दौरा किया और गेंहूं की सरकारी खरीद तथा भंडारण में आ रही किसानों की समस्या को सुना. उन्होंने अपनी इस यत्रा के लिए राहुल ने रेलगाड़ी के द्वितीय श्रेणी के जनरल डिब्बे में सफर किया. उन्होंने मोदी सरकार और अकाली दल-भाजपा गठबंधन सरकार पर किसानों की समस्या को लेकर उदासीन रवैया अपनाने का भी आरोप लगाया. पंजाब में किसान सरकारी एजेंसियों द्वारा मंडी से गेहूं न खरीदने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. राहुल मंगलवार रात चंडीगढ़ पहुंचे और बुधवार सुबह दिल्ली रवाना होने से पहले पूरी रात वहीं रुके. उनके साथ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे.

IANS