पूर्णिया. हत्याकांड के गवाह को धमकाने के आरोप में हिरासत में लिए गए रूपौली की जदयू विधायक बीमा भारती के पति अवधेश मंडल को उनके समर्थक देर रात मरंगा थाने से जबरन छुड़ा ले गए.

अवधेश मंडल को पुलिस ने के हाट थाने में गवाह को धमकी देने के मामले में दर्ज प्राथमिकी के आधार पर गिरफ्तार किया था. हालांकि पुलिस का मानना है कि अवधेश मंडल थाने में मौजूद भीड़ का फायदा उठा कर भाग गया है.

एसपी निशांत कुमार तिवारी ने प्रथमदृष्टया इस मामले में मरंगा के थाना अध्यक्ष शिव कुमार की तरफ से बरती गई लापरवाही को देखते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. साथ ही अवधेश मंडल की गिरफ्तारी के लिए एक विशेष टीम का गठन कर दिया है.

दूसरी तरफ, मंडल के थाने से फरार होने के मामले में पुलिस ने अलग से प्राथमिकी दर्ज कर ली है. इस बीच अवधेश मंडल को भगाने के मामले में पुलिस ने विधायक बीमा भारती के करीबी जदयू नेता टुनटुन आलम को गिरफ्तार कर लिया है.

क्या है मामला

अवधेश मंडल पर 2005 में चंचल पासवान नाम के आदमी की हत्या का आऱोप है. इस मामले में बीमा भारती और मंडल समेत कई अन्य लोगों को नामजद आरोपी बताया गया था. सुनीता देवी अपने पति की हत्या में गवाह है. अवधेश मंडल सुनीता देवी को उसके खिलाफ कोर्ट में गवाही नहीं देने की धमकी देने पहुंचा था.

इसकी सूचना मिलने पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था. अवधेश मंडल की गिरफ्तारी की खबर सुन उनकी पत्नी बीमा भारती अपने समर्थकों के साथ थाने पहुंची थी. थाने में जुटी भीड़ का फायदा उठाकर अवधेश फरार हो गया. बता दें कि मंडल पर 100 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं.