श्रीनगर. कश्मीर घाटी में उस समय अफरातफरी और भय का वातावरण पैदा हो गया, जब अफवाह फैली कि घाटी में पोलियो की खुराक दिए जाने से कुछ बच्चों की मौत हो गई है. सैकड़ों अभिभावक अपने बच्चों को लेकर बेचैनी के आलम में अस्पतालों की तरफ भागे. अधिकारियों ने कहा कि किसी भी बच्चे की मौत नहीं हुई है. उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.
 
अधिकारियों के यह कहने के बावजूद कि कोई मौत नहीं हुई है, अभिभावक अपने बच्चों को लेकर अस्पताल पहुंचे. इन बच्चों को पोलियो की खुराक दी गई थी. अस्पतालों में लोगों का हुजूम लग गया.
 
अधिकारियों के साथ-साथ मस्जिदों से भी ऐलान किया गया कि शांति बनाए रखें और घबराएं नहीं. अनंतनाग के मुख्य चिकित्सा अधिकारी फाजिल कोचक ने कहा, “घाटी में कहीं से भी पोलियो ड्राप की वजह से किसी के भी मरने की रिपोर्ट नहीं मिली है. शरारती तत्व सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर झूठी बातें फैला रहे हैं. अभिभावकों को बेसिर-पैर की इन अफवाहों पर बिलकुल ध्यान नहीं देना चाहिए.” 
 
अधिकारियों द्वारा खंडन किए जाने के बावजूद कई चिंतित परिजन घाटी के शहरों में अस्पतालों में पहुंचे, जिनके बच्चों को पोलियो की खुराक दी गई थी. इसके कारण श्रीनगर में यातायात जाम की स्थिति देखने को मिली. अनंतनाग में एक अस्पताल के कर्मचारी ने बताया कि सैकड़ों ऐसे अभिभावक उन बच्चों के साथ अस्पताल पहुंचे जिन्हें पोलियो खुराक दी गई थी.