श्रीनगर. पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) ने रविवार को सर्वसम्मति से जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के साथ सरकार बनाने के मुद्दे पर फैसला लेने का अधिकार पार्टी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती पर छोड़ दिया. मुख्यमंत्री के गुपकर मार्ग स्थित सरकारी आवास पर चली मैराथन बैठक के बाद पीडीपी नेता नईम अख्तर ने यह जानकारी दी.
 
उन्होंने कहा, “पार्टी ने पीडीपी-बीजेपी गठबंधन सरकार के बीते 10 महीने के कार्यकाल का आकलन किया. बैठक में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया कि बीजेपी के साथ भविष्य में गठबंधन जारी रखने पर फैसला लेने का अख्तियार अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती पर छोड़ दिया जाए.” 
 
पूर्व शिक्षा मंत्री अख्तर ने कहा कि पार्टी ने चार घंटे चली इस बैठक में अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती में पूर्ण निष्ठा जताई. बैठक में पार्टी सांसदों, पूर्व मंत्रियों समेत कई वरिष्ठ नेताओं ने हिस्सा लिया. अपने पिता और मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन के बाद उनकी बेटी महबूबा मुफ्ती ने पहली बार बैठक की अध्यक्षता की. 
 
अख्तर ने कहा, “महबूबा मुफ्ती ने पार्टी नेताओं से कहा कि वह यह महत्वपूर्ण फैसला जल्दबाजी में नहीं लेंगी और अंतिम फैसले से पहले विचार विमर्श करेंगी.”
 
उन्होंने कहा कि पीडीपी इस बात की सराहना करती है कि पठानकोट के आतंकी हमले के बावजूद भारत और पाकिस्तान ने शांति प्रक्रिया को जारी रखने का फैसला किया है. उन्होंने कहा, “दोनों देशों के बीच शांति प्रक्रिया को जारी रखना मुफ्ती साहब (पूर्व मुख्यमंत्री) की परिकल्पना के अनुरूप है.”