अमेठी. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने अपने अमेठी दौरे के दूसरे दिन कांग्रेस उपाध्यक्ष व अमेठी से सांसद राहुल गांधी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. स्मृति ने कहा कि राहुल अमेठी के लोगों को अपने परिवार का हिस्सा बोलते हैं लेकिन उन्होंने यहां के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया. उन्होंने ये भी कहा कि अमेठी में कई कार्यों के लिए शिलान्यास के पत्थर रखे गए हैं लेकिन अब तक कोई काम शुरू नहीं हुआ है.
 
स्मृति ने कहा कि अमेठी का विकास केवल कुछ लोगों तक सिमट गया है इसीलिए यह विकास की दौड़ में बहुत पिछड़ गया है. स्मृति पिछले लोकसभा चुनाव में वह इसी निर्वाचन क्षेत्र से बीजेपी की उम्मीदवार थीं लेकिन इस सीट पर राहुल ने जीत दर्ज की थी. उन्होंने कहा, “राजीव प्रताप रूडी के प्रयास से आगामी एक साल में अमेठी के 980 गांवों के प्रत्येक बालक-बालिकाओं का प्रशिक्षण दिया जाएगा. मनोहर पर्रिकर के प्रयास से हलियापुर में फायर इंजन दिया है. स्वास्थ्य की स्थिति को देखते हुए सात एम्बुलेंस दी गई हैं.”
 
स्मृति ने आगे कहा कि “राहुल गांधी ने अपना होकर किस तरह अमेठी के साथ व्यवहार किया. परिजन होकर ऐसा व्यवहार ठीक नहीं है. अभी तक स्थानीय लोगों को ट्रिपल आईटी से सहूलियत नहीं मिल पाती थी, लेकिन अब मिलेगी.” ईरानी ने कहा कि जिलाधिकारी ने कहा है अमेठी में जमीन की बड़ी चुनौती है.
 
यह पूछने पर कि क्या राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट की वजह से तो यह चुनौती नहीं है? उन्होंने हंसकर कहा, “समझदार के लिए इशारा काफी है. अमेठी से डेढ़ साल के अपने जुड़ाव के दौरान मैंने देखा है कि हर गांव में शिलान्यास का सिर्फ बोर्ड लगा है.”