पुणे. सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे को एक गुमनाम पत्र मिला है जिसमें धमकी दी गयी है कि उनकी 26 जनवरी को हत्या कर दी जाएगी. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि चिट्ठी भेजने वाले ने आरोप लगाया है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन करने वाले हजारे ने काफी पैसे अर्जित किए हैं और वह उसे अपना वारिस घोषित करें.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज देशमुख ने कहा कि हाथ से लिखा गया यह पत्र करीब चार दिन पहले भेजा गया था. यह पत्र अहमदनगर जिले में हजारे के पैतृक गांव रालेगण सिद्धि स्थित उनके कार्यालय को भेजा गया था.

देशमुख ने कहा कि पत्र में प्रेषक ने धमकी दी है कि 26 जनवरी हजारे का आखिरी दिन होगा. उन्होंने कहा कि हजारे को पहले भी ऐसे गुमनाम पत्र मिल चुके हैं.

देशमुख ने कहा कि हमने पहले ही उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया करायी है और रोजाना आधार पर सुरक्षा की समीक्षा की जा रही है.  इस बीच हजारे के निजी सहायक श्याम पथाडे ने कहा कि हमारे कार्यालय को मिला यह संभवत: दसवां पत्र होगा और अण्‍णा ने ऐसे पत्रों पर टिप्पणी नहीं करने का फैसला किया है.