पटना/लखनऊ. राजधानी पटना सहित बिहार के कई जिलों में अचानक मौसम ने करवट ले ली. मंगलवार दोपहर को बिहार के कई जिलों में धूल भरी आंधी के साथ बारिश हुई. मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में उत्तर-पूर्व बिहार में आंधी-तूफान की आशंका जताई है. वहीं उत्तर प्रदेश में भी बारिश, आंधी और ओले की मार ने किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी है. इस तूफान में 15 लोगों की मौत हुई है.

मंगलवार को लखनऊ , कानपुर, बहराइच, वाराणसी, गोरखपुर, आगरा, झांसी, गाजीपुर, बलिया और वाराणसी सहित उप्र के कई हिस्सों में तेज आंधी के साथ जोरदार बारिश हुई. मौसम विभाग ने अगले 72 घंटों तक लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है.

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, कैमूर रोहतास, भोजपुर एवं औरंगाबाद में तेज हवा के साथ बारिश हुई. आंधी के कारण जनजीवन प्रभावित हो गया. कुछ स्थानों पर बड़े पेड़ और घर गिरने की सूचना मिल रही है. मौसम विभाग ने बताया कि पटना में 60 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से आंधी आई. तेज हवा के कारण एहतियात के तौर पर बिजली आपूर्ति ठप कर दी गई है. 

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में तेज बारिश के साथ ओले भी गिरे. तेज आंधी के कारण बहराइच में कई पेड़ गिर गए और बिजली के तार टूट गए. बारिश के कारण कई घरों को भी नुकसान पहुंचा. इस समय कई इलाकों में तेज हवा के साथ बारिश हो रही है. लखनऊ के पारा इलाके में तेज बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से दो लोगों की मौत हो गई, जबकि एक की हालत गंभीर बताई जा रही है.