जम्मू. मकर संक्रांती और लोहड़ी के त्यौहार पर माता वैष्णोदेवी श्राइन बोर्ड ने विश्नभर से आने वालो श्रद्धालुओं के लिए मां वैष्णोदेवी की प्राचीन गुफा को खोल दिया गया है. यह फैसला ज्यादातर सर्दियों में यात्रा में कमी के चलते किया गया है.
 
सालभर मां वैष्णोदेवी के दरबार में रोजाना आने वाले हजारों श्रद्धालु कृत्रिम गुफाओं से होकर मां के दर्शन करते हैं क्योंकि अधिक भीड़ रहने के कारण बोर्ड प्रशासन प्राचीन गुफा के द्वार अक्सर बंद ही रखता है. प्राचीन गुफा के द्वार तभी खोले जाते हैं जब श्रद्धालुओं का आंकड़ा रोजाना 10 हजार के नीचे पहुंच जाए. 
 
बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजित कुमार साहू का कहना है कि इस समय रोजाना 12 से 13 हजार यात्री दर्शन के लिए आ रहे हैं. ऐसे में देर शाम से पुरानी गुफा को खोल दिया गया है. सामान्य तौर पर यह आंकड़ा दस हजार से नीचे आने के बाद पुरानी गुफा को खोला जाता है. प्राचीन गुफा के द्वार सुबह 10 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक खुले रहेंगे.
 
इस बीच मकर संक्रांति पर त्रिकुटा कटरा के मंदिर में बोर्ड की ओर से हवन यज्ञ का आयोजन किया गया है.