नई दिल्ली. सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने कहा कि पाकिस्तानी सेना ने कई बार भारत और पाकिस्तान के बीच शांति वार्ता को पटरी से उतारी है.
 
जनरल सिंह से यह पूछने पर कि क्या पंजाब में पठानकोट हमला और अफगानिस्तान के मजार-ए-शरीफ में भारतीय वाणिज्य दूतावास पर हमला शांति वार्ता को पटरी से उतारने की पाकिस्तानी सेना की कोशिश थी, उन्होंने कहा, “मैंने भी (अफगान पुलिस का) बयान अखबारों में पढ़ा है. यह अच्छा है कि कम से कम पाकिस्तान या पाकिस्तानी अधिकारियों की वहां संलिप्तता खुलकर सामने आ गई है.”
 
उन्होंने कहा, “अफगानिस्तान सरकार, अफगान सेना ने यदि इस बात की पुष्टि कर ली कि वहां पाकिस्तानी सेना या उसके अधिकारी संलिप्त थे, तो मुझे पूरा भरोसा है कि वे इस मुद्दे को पाकिस्तान सरकार के साथ मजबूती से उठाएंगे.”
 
पाक में 17 आतंकी शिविर-एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि पाक अधिकृत कश्मीर में अभी भी 17 आतंकी शिविर चल रहे हैं. कुछ साल पहले तक 42 शिविर चल रहे थे. ये शिविर अन्तरराष्ट्रीय दबाव की वजह से बंद हुए.