नई दिल्ली. कांग्रेस की आपत्ति के बाद बिहार सरकार ने अपनी वेबसाइट से पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की आलोचना वाला लेख हटा लिया है.

बिहार सरकार की एक वेबसाइट पर इंदिरा गांधी के शासन को ब्रिटिश शासन से भी खराब बताया गया था. इस लेख में बिहार के इतिहास पर लिखी समीक्षा में इंदिरा के निरंकुश शासन और आपातकाल के समय बढ़े दमन का हवाला दिया गया था.

समीक्षा में भारत के आधुनिक इतिहास में जय प्रकाश नारायण के योगदान का जिक्र करते हुए कहा गया था कि यह जेपी ही थे, जिन्होंने निरंतर और मजबूती से इंदिरा गांधी के निरंकुश शासन और उनके छोटे बेटे संजय गांधी का विरोध किया था.

समीक्षा में लिखा गया था कि जेपी के विरोध पर लोगों की प्रतिक्रिया से डरकर ही इंदिरा गांधी ने 26 जून 1975 को आपातकाल की घोषणा करते हुए उन्हें गिरफ्तार करवा दिया था. उन्हें दिल्ली के पास स्थित उस तिहाड़ जेल में रखा गया था, जहां कुख्यात अपराधियों को रखा जाता है.