कोलकाता. पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के कालियाचक इलाके में भड़की हिंसा मामले में बीजेपी की तरफ से जांच के लिए तैयार की गई 3 सदस्यों की टीम को हिरासत में ले लिया गया है.

हिरासत में लिए गए टीम के सदस्य एसएस अहलूवालिया ने कहा कि हम सच जानना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि हमें रोकना मतलब सच को छिपाना है. मालदा रेलवे स्टेशन पर इन तीनों को वहां पहुंचने के चंद मिनट बाद ही हिरासत में ले लिया गया था.

बता दें कि बीजेपी ने तीन सदस्यीय एक टीम गठित की है जिसे पश्चिम बंगाल में मालदा का दौरा करना था. यह टीम मालदा में एक दक्षिणपंथी नेता की कथित ईशनिंदात्मक टिप्पणी के बाद पिछले रविवार को भड़की हिंसा पर जांच करने के लिए जा रही थी.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की तरफ से गठित इस टीम के प्रमुख पार्टी महासचिव और सांसद भूपेंद्र यादव होंगे. दो अन्य सांसद एसएस अहलूवालिया और बीडी राम टीम के अन्य सदस्य हैं. बीडी राम अवकाशप्राप्त पुलिस महानिदेशक हैं. हिंसा प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने के बाद जांच टीम शाह को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी.