बेंगलूरू. भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित वैज्ञानिक सीएनआर राव का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने विजन को हकीकत में बदलने के लिए सही वैज्ञानिक सलाह की जरूरत है. उन्हें अब मिशन आधारित परियोजनाओं की शुरूआत करनी चाहिए.
 
‘मोदी एक विजन वाले व्यक्ति’
एक इंटरव्यू में राव ने मोदी की विज्ञान नीति, धर्म, असहिष्णुता और मदर टेरेसा के बारे में बात की. इंटरव्यू में राव से पूछा गया कि क्या आपको लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास विज्ञान को लेकर एक अच्छा नजरिया है? तो उनका कहना था कि निश्चित तौर पर वह एक विजन वाले व्यक्ति हैं. इस बात में कोई शक नहीं हैं कि वह कुछ करना चाहते हैं. हम उम्मीद करते हैं कि वह न सिर्फ अच्छी सलाह का इस्तेमाल करेंगे बल्कि उन सभी शानदार आइडियाज का भी इस्तेमाल करेंगे, जो उनके पास हैं. 
 
‘सही सलाह के लिए सही लोग मिलें’
राव से यह पूछे जाने पर कि आप कई प्रधानमंत्रियों के सलाहकार रहे हैं. क्या प्रधानमंत्री की वैज्ञानिक सलाहकार परिषद निष्क्रिय पड़ गई है? क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सही वैज्ञानिक सलाह मिल पा रही है? तो उनका कहना था कि मैं उम्मीद करता हूं कि हमारे प्रधानमंत्री को सही सलाह के लिए सही लोग मिलेंगे क्योंकि कोई भी एक व्यक्ति या कोई एक मंत्रालय विज्ञान या समाज की वृहद समस्याओं से निपट नहीं सकता. विज्ञान का इस्तेमाल करते हुए, हमें गरीबी की भारी समस्याओं को सुलझाना है और साथ-साथ बाकी दुनिया से स्पर्धा भी करनी है. 
 
‘मोदी जानें क्या हैं हमारी प्राथमिकताएं’
राव ने कहा कि यदि भारत को आगे बढ़ना है, तो प्रधानमंत्री मोदी को यह जानना होगा कि हमारी प्राथमिकताएं क्या हैं, हम कैसे आगे बढ़ें, किस चीज पर काम करें. मैं उम्मीद करता हूं कि उन्हें सही सलाह मिले और वह सलाह लेने के लिए कुछ लोगों का समूह बनाएं. मैं उम्मीद और प्रार्थना करता हूं कि वह ऐसा करें.