पटना. बिहार के अरवल जिले की एक दुष्कर्म पीड़िता ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से दया मृत्यु की अनुमति मांगी है. उसका कहना है कि तीन माह बीत जाने के बाद भी उसे अब तक न्याय नहीं मिल पाया है. अरवल जिले के सफ्लापुर गांव की करीब 20 वर्षीय युवती ने इस संबंध में राष्ट्रपति को पत्र भेजा है.
 
पीड़िता के एक रिश्तेदार ने कहा, “दुष्कर्म पीड़िता ने सभी अधिकारियों के दरवाजे खटखटाए, लेकिन उसे अब तक न्याय नहीं मिला. इसे देखते हुए उसने दया मृत्यु की अनुमति के लिए राष्ट्रपति को पत्र भेजा है.”
 
पीड़िता ने अपने पत्र में कहा है कि पुलिस अपने कर्तव्यों का निर्वहन सही तरीके से नहीं कर रही है और अभियुक्त को अरेस्ट नहीं कर रही है. पुलिस ने कहा कि डॉक्टोरों ने टेस्ट में युवती से रेप की पुष्टि हुई है. अरवल महिला थाने में इस संबंध में एफआईआर दर्ज भी है. बताया जाता है कि आरोपी सेना में है और वह बिहार से बाहर पदस्थ है.
 
पीड़िता की शिकायत के मुताबिक, उसके साथ रेप उसके पिता पक्ष से संबंधित एक नजदीकी रिश्तेदार ने 22 अक्टूबर को किया. युवती का कहना है कि आरोपी के परिजन मामला वापस लेने के लिए उसे लगातार धमका रहे हैं, वरना अंजाम भुगतने की धमकी दे रहे हैं. अरवल महिला थाने की प्रभारी कुमारी बबीता ने कहा कि मामले की जांच जारी है और अब तक किसी को अरेस्ट नहीं किया गया है.